Sunday, 27 May 2018

वॉयरल टेस्ट वालों का सच ( तरकश ) डॉ लोक सेतिया

     वॉयरल टेस्ट वालों का सच ( तरकश ) डॉ लोक सेतिया

                       (  आधा सच्चा - आधा झूठ  )

         मेरे पास है वह विडिओ अगर आपको कहीं से नहीं मिला तो मुझे बताओ और पाओ। पे टीएम की तरह से नहीं। फेसबुक की तरह से नहीं। व्हाट्सऐप की तरह से नहीं। आपस की बात आपस तक रहेगी। इस बात का भरोसा आपको बहुत लोग दे सकते हैं जिनकी कितनी बातें मेरे भीतर गहरे कुंवे में पड़ी हैं , खुद मैं भी उन्हें भूल चुका हूं। जिस विडिओ की बात करनी है वो सब से अलग है। इतना कि किसी को कल्पना में भी नहीं विचार आया कि ये संभव है , बहुत सारी बातें अविश्वसनीय सच होती हैं। पांच साल पहले कोई सोच भी नहीं सकता था कि इक दल चाहे जितना बदनाम हो जाये घोटालों में , दूसरे दल को इतना बहुमत हासिल हो सकता है और उसके बाद देश से राज्यों तक उसी की विजय हो सकती है। मगर वो अविश्वसनीय बात अब इतिहास बन चुकी है। जब किसी के अच्छे दिन आते हैं तो यही होता है। तकदीर कब किसी को कहां पहुंचा देती है कोई नहीं जानता है। मुलतानी भाषा बेहद रोचक है , और मुलतानी कहावतें बहुत बढ़िया होती हैं। इक ऐसा ही मुहावरा है , किसे दी रन्न मोई किसे दे भाग खुले। हिंदी अनुवाद भी बताना होगा , किसी की पत्नी की मौत हुई और किसी की तकदीर खुल गई। अभी भी नहीं समझे तो पांच साल बाद समझोगे जनता की तरह। भाई सीधी बात है जिस लड़की की शादी नहीं हो रही थी , आयु बढ़ती जा रही थी , जिस की पहली बीवी नहीं रही उसको ज़रूरत थी , खुद ही मांग लिया रिश्ता। राजनीति में ये और ढंग से होता है , बीवी भी होते हैं नेता और रखैल भी बनकर रहते हैं , ये चुनाव के बाद का गठबंधन कहलाता है। कहने को किसी की और निष्ठा किसी और के साथ। अब असली बात पर आते हैं। 
                 जिसकी बात हो रही है उस विडिओ में इक उपकरण है जो आपको आपके सामने आपका अगला पिछले जन्म दिखाता है। विडिओ में टीवी चैनल वाला सच्चाई समझना चाहता है , उपकरण बनाने वाले को बहुत पैसा देने का वादा सरकार की तरह किया हुआ है। लालच भी दिया है कि टीवी पर देख कर हर कोई आपसे बनवाना चाहेगा उपकरण और आप मालामाल हो जाओगे। टीवी वाले ने अपना नाम आधार कार्ड नंबर डाला तो पटल पर इक कुत्ता सड़क पर भागता हुआ दिखाई दिया। बुलाया उस उपकरण बनाने वाले को ये पूछने के लिए कि ये तो कुछ और ही है , भला किसी कुत्ते का नाम और आधार कार्ड नंबर मेरे जैसा कैसे हो सकता है। उपकरण बनाने वाले ने समझाया कि आपने अंकित किया हुआ है इस पहचान वाले का अगला जन्म क्या होगा। भविष्य में आप गाड़ियों के पीछे भागते सड़क के श्वान हो सकते हैं जो स्पीड मैनिया के शिकार हैं। बुरा नहीं मानों तो अभी भी वही हैं , बेकार भौंकते रहते हैं , अनजान अजनबी वाहनों के पीछे भागते रहते हैं। आपको लगता है सब डरते हैं आपसे , मगर किसी को आपकी परवाह नहीं है , सब जानते हैं आपको टुकड़ा डाला तो दुम हिलाने लगते हैं। विज्ञापन देने वाले के पालतू हैं , आपने रखवाली करना छोड़ दिया है। बेकार की बहस जिसका कोई नतीजा नहीं इसी तरह की बात है भौंकने से लोग तंग आ चैनल बदलते रहते हैं मगर हर सड़क पर यही दिखाई देता है। देख लो किसी दिन इसी तरह कोई वाहन आपको कुचल देगा , कुत्ते की मौत मरना कोई नहीं चाहता। लेकिन आपसे ये दौड़ छूटेगी नहीं कभी , पागलपन की सीमा पार कर चुके हैं आप। पिछले जन्म में देखने से घबरा गये , दिखाई दिया सच मगर स्वीकार नहीं कर सकते। आपका उपकरण झूठा है हम इस को टीवी चैनल पर नहीं दिखा सकते। आप बेशक किसी अख़बार में इश्तिहार दे कर कोशिश कर लेना , कोई भी अपना पिछला जन्म ऐसा नहीं पसंद करेगा न भविष्य में ऐसा जन्म लेना चाहेगा। जी आपकी बात ठीक है मगर आप आगे क्या करोगे , मुझ पर मान हानि का मुकदमा तो नहीं करना चाहते। नहीं नहीं बिल्कुल भी नहीं , क्योंकि इस सच को सामने लेकर मुझे हासिल क्या होगा। मानहानि का मुकदमा करने वालों की गति देखी है , माफ़ कर जान छुड़ाते हैं ताकि झूठी इज्ज़त बच जाये जो बचती नहीं है। लोग सच कोई समझते हैं , झूठ पर खामोश रहते हैं , मन ही मन हंसते हैं। 
         माफ़ करें मुझे बीच में ब्रेक लेना पड़ रहा है , आप साथ बने रहिये , विज्ञापन के बाद आपको दिखाते हैं इस विडिओ की असलियत।  कहीं जाना नहीं हमारी टीआरपी की सौगंध।

No comments: